सिंगरौली समाचार

रेलवे विभाग की लापरवाही ने ले ली 30 वर्षीय महिला व 3 माह के बच्चे की जान !

मध्य प्रदेश में सिंगरौली जिले के सरई थाना अंतर्गत ग्राम गजरा बहरा में आज लगभग दोपहर 2:00 बजे कटनी से चलकर सिंगरौली की ओर मालगाड़ी जा रही थी। जब रेलवे स्टेशन गजरा बहरा पहुंची तब 30 वर्षीय महिला के साथ 3 माह के बच्चे उसकी चपेट में आ गए। जिससे घटनास्थल पर ही दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना के बाद परिजनों में मातम सा छा गया। 

टीकाकरण से लौटते समय हुआ हादसा

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतका का नाम पूनम नामदेव पति लल्ला नामदेव गजरा बहरा निवासी हैं, लोगों ने यह बताया कि कुछ वर्ष पहले ही यह व्यवहारी से ग्राम गजरा बहरा में आए और यहीं के निवासी बन गए।30 वर्षीय महिला अपने छोटे देवरानी के बच्चे को लेकर टीकाकरण हेतु उप स्वास्थ्य केंद्र गजराबहरा गई थी उधर से लौटते वक्त यह हादसा हुआ है।

लापरवाह रेल कर्मचारियों को बर्खास्त करने की मांग !

आसपास के लोगों व परिजनों की माने तो स्टेशन मास्टर व पॉइंस मेंन की लापरवाही से यह घटना हुआ है। जब तक पॉइंस मैन किसी भी गाड़ी को हरी झंडी नहीं दिखाता तब तक कोई भी ट्रेन(मालगाड़ी)स्टेशन पार नहीं करती। लेकिन जिस वक्त मालगाड़ी आ रही थी उस वक्त यह साहब स्टेशन के अंदर ही बैठै थे। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने तो यह भी आरोप लगा दिया कि यह नशे में धुत थे।आक्रोशित रहवासियों व परिजनों ने ऐसे लापरवाह कर्मचारियों को बर्खास्त करने की मांग की है। 

मंजूरी के वर्षो बाद भी नहीं बन सका ओवरब्रिज

सबसे बड़ी बात तो यह है कि वर्षों पहले ओवर ब्रिज मंजूर हुआ है। लेकिन आज तक बना नहीं। स्टेशन पर आए दिन ऐसी घटना होती रहती है।अगर ओवरब्रिज रहता तो शायद ऐसी घटना ना होती। 

  • घटनास्थल पर सरई थाना के स्टाफ व तहसीलदार समेत सरपंच सचिव व सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहें। 
  • देवसर एसडीएम ने पंचायत के माध्यम से मृतको जनों को 5000-5000की सहयोग दिलवाई है। 

सरई थाना प्रभारी ने बताया कि,कटनी से चलकर सिंगरौली की ओर मालगाड़ी जा रही थी तभी 30 वर्षीय महिला वह 3 माह का बच्चा उसकी चपेट में आ गया जिसकी मौत हो गई। जिसकी अग्रिम कार्यवाही हम लोगों द्वारा किया जा रहा है।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें
Back to top button