सिंगरौली

सिंगरौली में स्त्री शिक्षा आंदोलन के जनक ज्योतिबा राव फुले की जयंती धूमधाम से मनाई गई।

सिंगरौली जिले के शिवगढ़ में पिछड़ा समाज क्रान्ति सेना के कार्यकर्ताओं ने स्त्री शिक्षा आंदोलन के जनक ज्योतिबा राव फुले की जयंती धूमधाम से मनाई।


महात्मा जोतिराव गोविंदराव फुले का जन्म 11 अप्रैल 1827 को हुआ था। आपको महात्मा फुले एवं ”जोतिबा फुले के नाम से भी जाना जाता है।उन्होंने अपनी धर्मपत्नी सावित्रीबाई फुले को स्वयं शिक्षा प्रदान की। सावित्रीबाई फुले भारत की प्रथम महिला अध्यापिका थीं।


सिंगरौली के शिवगढ़ गांव स्थित पिछड़ा समाज क्रान्ति सेना के कार्यालय पर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील कुमार जायसवाल की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। इसमें उपस्थित संगठन के कार्यकर्ताओं ने महात्मा ज्योतिबाराव फुले की चित्र पर फूल माला चढ़ाकर धूमधाम से जयंती मनाई।

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जायसवाल ने महात्मा ज्योतिबा राव फुले को महान विचारक लेखक और सत्यशोधक समाज के संस्थापक बताया। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा समाज के विकास के लिए दी गई कुर्बानियां कभी भुलाई नहीं जा सकती।

इस अवसर पर संगठन के उपाध्यक्ष छोटेलाल यादव,महासचिव लालता प्रसाद जायसवाल,रामकृपाल जायसवाल, रामलखन जायसवाल, अर्जुन सिंह, प्रदीप जायसवाल, गोलू सिंह, आशीष जायसवाल, छोटेलाल यादव, जगदीश जायसवाल, सुरेश दादे आदि कार्यकर्ताओं ने जयंती मनाई।

न्यूज़ डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button