सिंगरौली

गोपद नदी में हो रहे अवैध रेत खनन पर शिकायत के बाद भी कार्यवाही न होना बना चर्चा का विषय!

मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले के ग्राम पंचायत निगरी के गोपद नदी मे पीसी मशीन से खुलेआम अवैध रेत खनन illegal sand mining किया जा रहा है।जिम्मेदार विभाग की चुप्पी से क्षेत्र में चर्चाओं का बाज़ार गर्म है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार सरई तहसील के ग्राम पंचायत निगरी के गोपद नदी के अराजी क्रमांक 186 रकवा 2 हेक्टेयर पर रेत खदान स्वीकृत है। लेकिन आर के ट्रांसपोर्ट कंम्पनी द्वारा स्वीकृत खदान के अराजी नं 186 के बाहर 187 पर पीसी मशीन से अवैध खनन कराया जा रहा है। इस मामले की जाँच हेतु (आई एन टी यू सी) राष्टीय खद्यअपूर्ति विभाग मजदूर संग के ज़िला अध्यक्ष सिद्धनाथ साहू द्वारा तहसीलदार सरई को मौका स्थल की जाँच हेतु पत्र लिखा गया।  जिसके बाद तहसीलदार द्वारा राजस्व निरीक्षक निवास व पटवारी हल्का निगरी को स्थल निरीक्षण हेतु आदेशित किया गया। 

GOPAD NADI
दिनांक 30-01-2021 को गोपद नदी पहुच कर मौका स्थल का निरीक्षण किया गया। मौके स्थल पर पीसी मशीन से अवैध उत्खनन पाया गया। मौका स्थलपर पंचनामा मौके पर उपास्थित सैकड़ो ग्रामीणो के समक्ष तैयार किया गया।

अवैध रेत उत्खनन illegal sand mining का विरोध ग्रामीणो द्वारा किया तो ठेकेदार के गुर्गो द्वारा ग्रामीणों को पुलिस का डर दिखा कर डराया धमकाया जाने लगा और लगातार अवैध रेत उत्खनन पीसी मशीन से जारी है।

जब शाशन का निर्देश है की वैध रेत खदान से मजदूरो द्वारा लोडिंग कार्य कराया जाऐगा जिससे मजदूरो को रोजगार मिल सके। ऐसे में आर के ट्रांसपोर्ट कंम्पनी द्वारा लगातार पीसी मशीन से अवैध रेत खनन किसके अनुमति से कर रहा। पीसी मशीन से अवैध रेत खनन की  जानकारी खनिज विभाग को भी है,लेकिन खनिज विभाग अनजान बना हुआ है।  इस संबंध में शिकायत दिनांक 14-01-20201 को पुलिस अधीक्षक महोदय सिगरौली को भी की गई है लेकिन आज दिनांक तक अभी कोई भी कार्यवाही नही की गई।


अवैध रेत उत्खनन पर प्रकाशित ख़बरों का कलेक्टर ने लिया संज्ञान,दिए कड़ी कार्यवाही के निर्देश।


ग्राम पंचायत निगरी के ग्रामीणों द्वारा जिला कलेक्टर से मांग किये है की आर के ट्रांसपोर्ट कंम्पनी द्वारा की जा रही अवैध रेत खनन मे लगी पीसी मशीन को जप्त कराते हुए अवैध रेत खनन पर रोक लगाई जाय। और वैध खदान से मजदूरो द्वारा लोडिंग कार्य कराये जाने की मांग किया गया है। 


इस मामले में खनन विभाग के अधिकारी ए के राय से फोन पर उनका पक्ष जानने के लिए संपर्क किया गया,तो उन्होने फोन रिसिव नहीं किया।संपर्क होते ही उनका पक्ष अपडेट कर दिया जाएगा।


 

न्यूज़ डेस्क

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button