बरगवांभ्रष्टाचार

सिंगरौली ब्रेकिंग : पिटाई हुई है इसलिए SBI खाताधारकों से नियम के विरुद्ध पैसा वसूल रहा हूं।

सोनू विश्वकर्मा / राकेश विश्वकर्मा

सिंगरौली / कसर ।। भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया मुख्य शाखा-बरगवाँ के अन्तर्गत कसर गाँव में क्षेत्रीय नागरिकों की सुविधा के लिए मुख्य शाखा बरगवाँ के द्वारा भारतीय स्टेट बैंक की ग्राहक सेवा केन्द्र नियुक्त किया गया है,जिसमें बैंकिंग सेवाओं का संचालन जारी के लिए संचालक- नीरज कुमार शाह पदस्थ है। जिनके द्वारा प्रत्येक खाता धारकों से निकासी राशि के दौरान ऊपर से अतिरिक्त शुल्क लेने के पश्चात ही खाते से निकाली गई राशि दी जा रही है।

कोरोना प्रोटोकॉल में भी हो रहा खाता धारकों का शोषण

कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी को देखते हुए समस्त क्षेत्रों में सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है,कोरोनाकाल को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री के द्वारा सभी जन-धन खातों में कुछ न कुछ पैसे डाले गए,और इसी प्रकार से सभी जनप्रतिनिधियों ने भी क्षेत्र-वासियों के सहयोग में लगे हैं। लेकिन एक तरफ कुछ बैंकों का मुख्य शाखा बंद होने की वजह से खाता धारक उसी बैंक के ग्राहक सेवा केंद्र में जाते हैं खातों में जमा राशि को निकालने के लिए तो संचालकों द्वारा ग्राहकों से अतिरिक्त शुल्क के साथ ही खाते में पड़ी राशि का निकालने का बना रहे हैं दबाव, जिसके कारण ग्राहक अतिरिक्त शुल्क देने पर मजबूर।

ग्राहकों से कियोस्क संचालक द्वारा अतिरिक्त शुल्क मांग

खाता धारकों का कहना है कि हम लोगों से ग्राहक सेवा केंद्र संचालक द्वारा पैसा निकालने के दौरान ऊपर से पैसा मांगा जा रहा है, जब हम लोग इसका विरोध करते हैं तो बोलते हैं कि जो पैसा आप निकाले हैं उसका चार्ज ले रहे हैं, उसके बाद जो जैसा रहता है उसके अनुसार निकाले गए पैसों में से मनमानी कटौती करके देते हैं।

हमारी पिटाई हुई है इसलिए अतिरिक्त शुल्क ले रहे हैं। -कियोस्क संचालक

SBI कियोस्क संचालक से संवाददाता ने कटौती से सम्बन्धित की पूछताछ किया तो कियोस्क संचालक द्वारा बताया गया कि लाॅकडाउन के दौरान मुख्य शाखा बन्द पड़ा है इसलिए मैं पैसा बाहर लेने गए थे तो हमारी पिटाई हुई है और मोटर साईकिल में खर्च हुए पेट्रोल को घर से पैसा नहीं लगाएंगे, इसलिए 3-4 दिन से प्रत्येक निकासी करने वाले खाता धारकों से अतिरिक्त शुल्क ले रहे हैं।

News 1

बरगवां SBI मुख्य शाखा की जवाब

जिसका भारतीय स्टेट बैंक का खाता हो, उसका नहीं ले सकता कियोस्क संचालक अतिरिक्त शुल्क,चाहे वह निकासी करने आया हो या फिर जमा करने आया हो ग्राहक लेकिन उससे कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लैना है।

बैंक के मुख्य शाखाओं से न्याय की मांग

जब मुख्य शाखा द्वारा अपने आस-पास के सभी क्षेत्रों में ग्राहक सेवा केंद्र संचालित किए गए हैं,तो इसीलिए किए गए हैं, कि ग्राहकों का शोषण किया जाय, दबाव डाल के प्रत्येक खाता धारकों से निकासी के दौरान अतिरिक्त शुल्क की मांग की जाए?

जब कियोस्क संचालकों को संस्था के द्वारा प्रत्येक ट्रान्जेक्शन पर कमीशन प्रदान की जाती है, उसके उपरांत भी ग्राहक सेवा केंद्र में अतिरिक्त शुल्क का नोटिस संचालक द्वारा चस्पा की गई है।

कोविड-19 में जनप्रतिनिधियों द्वारा सभी क्षेत्रों में किया जा रहा है सहयोग और यहाँ पर तो लूटेरों की तरह लूटा जा रहा है क्यों?क्या खाता धारकों के साथ अन्याय ही होगा, न्याय नहीं मिलेगा?

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

अब्दुल रशीद

Abdul Rashid is a well-known Journalist, Political Analyst and a Columnist on national issue. Cont.No.-7805875468, Email - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button