सरई
ब्रेकिंग न्यूज़

सिंगरौली न्यूज़ : न्याय के लिए दरदर भटक रहा बेघर परिवार,बैठा धरने पर !

धर्मेंद्र शाह//सिंगरौली :जिले के सरई तहसील से बड़ी खबर खबर आ रही है।  जहां दूसरे दिन भी खुले मैदान में बरसात के मौसम में सरई तहसील कार्यालय के सामने छः महीने से परेशान पीड़ित अपने परिवार के बच्चे महिलाएं के साथ धरने पर बैठे रहा।  इतना ही नहीं उस पीड़ित परिवार का एक लड़के की तबीयत भी बिगड़ गया था।  वहीं धरने पर बैठे परिवार रजनी बाई पति तेजबली जायसवाल ग्राम भरसेड़ा के बताया जा रहे हैं।

जब हमारे संवादाता द्वारा इस धरने के बारे में फरियादी फोन के माध्यम से बातचीत किया गया तो उन्होंने बताया कि हम लोग बीते छः महीने से जमीनी हकीकत सीमांकन की समस्या पर तहसील का चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन आज तक हमारे जमीन की सही तरीके से सीमांकन हो पा रहा है। इतना ही नहीं इन्होंने राजस्व पर आरोप लगाते हुए कहा कि हम लोग धन-बल से कमजोर है। इसलिए हमारे विरोधी पार्टी हम लोगों को परेशान करने के लिए राजस्व अमले से सांठगांठ कर सही नाप नहीं करने दिया जाता है।

राजस्व ने जितनी बार जमीन नाप किया है। उतनी बार अलग-अलग जगह पर सीमा बताया जाता है। जिससे इनकी सीमांकन हमारी सिरदर्द बन गया है। और हम लोग आज बेघर हो गए हैं क्योंकि उसी जमीन पर पुराने मकान को गिरा कर नया मकान निर्माण कर रहे थे लेकिन विरोधी व्यक्ती ने स्टे लगा दिया है। जिसमें आज तक स्टे खुला नहीं और जमीन की नाप सही नही कर रहे हैं।

अब हम लोग बेघर होकर तहसील परिसर में धरना पर बैठे हुए हैं। ताकि हमें न्याय मिल सके।

जब हमारे संवाददाता ने इस मामले को लेकर संबंधित अधिकारी तहसीलदार महोदय से फोन के माध्यम से बात किया तो उन्होंने बताया कि, यह न्यायालयीन प्रकरण है जल्दी बाजी नहीं होगा, उनके द्वारा गोल मटोल जानकारी दिया गया।

आपको बता दें कि पहले दिन जब पीड़ित ने अपने परिवार के साथ रात आठ बजे तहसील कार्यालय के अंदर बैठे गए थे। तब तहसीलदार ने समझाइश दी लेकिन पीड़ित नहीं माने तो तहसीलदार ने पुलिस बुलाकर कार्यालय से बाहर करवा दिया था। पीड़ित द्वारा यह भी बताया गया कि सरई थाना में पदस्थ SI जेपी वर्मा के द्वारा उन्हें थाने में भी ले जाया गया‌। और रात लगभग 10:00 बजे उन्हें छोड़ दिया गया। लेकिन पीड़ित परिवार घर नहीं गये और तहसील परिसर में पुन: धरना पर बैठे गए।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें
Back to top button