देवसर

कोरोना संक्रमण से बचाव का सबसे बेहतर तरीका टीकाकरण ही है। – संभागीय कमिश्नर रीवा

बैढन कार्यालय।। जिले के एक दिवसीय प्रवास पर आये हुये संभागीय कमिश्नर रीवा अनिल सुचारी ने चितरंगी उपखण्ड क्षेत्रान्तर्गत के ग्रमीण क्षेत्रो मे बनाये गये कोविड केयर सेटर का निरीक्षण किया। तथा किल कोरोना अभियान का जायजा लिया।

आज संभागीय कमिश्नर रीवा सुचारी एवं कलेक्टर राजीव रंजन मीना,पुलिस अधीक्षक बीरेन्द सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी साकेत मालवीय के साथ चितरंगी उपखण्ड की ग्राम पंचायत खिरमा मे पहुचे।

गाव मे कोरोना पिड़ित रहे ग्रामणो से मिले एवं स्वास्थ्य की जानकारी ली।विदित हो कि कुछ दिन पहले इस गाव मे एक साथ लगभग 27 कोरोना पाजीटिव व्यक्ति मिले थे।

सभागीय कमिश्नर ने गाव की सील की गई सीमाओ सहित मेडिसिन किट के वितरण होम आईसोलेट किये गये मरीजो सहित संस्थागत कोविड सेटरो मे रखे गये मरीजो की जानकारी प्राप्त की गई की गई। व्यवस्थाओ के संबंध मे उपखण्ड अधिकारी से जानकारी चाही गई।

जिसके संबंध मे उपखण्ड अधिकारी नीलेश शर्मा ने बताया कि संक्रमित मिले मरीजो मे ज्यादातर व्यक्ति स्वस्थ्य हो चुके है।तथा जो व्यक्ति अभी तक आईसोलेट है उनके उचित उपचार एवं स्वस्थ्य की जानकारी प्रति दिवस ली जा रही है।संबंधित पंचायत की सीमाऐ सील कर दी गई है। तथा मेडिसिन किट का वितरण कराया जा रहा है।

तत्पश्चात ग्राम पंचायत नौढ़िया मे पहुचकर आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यो से भेट कर कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए की गई व्यवस्थाओ के संबंध मे जानकारी ली गई।

इस अवसर पर चितरंगी विधानसभा के विधायक अमर सिंह, जिला पंचायत सदस्य राजेश सिंह,सरपंच श्रीमती आरती सिंह सहित शारदा शर्मा, चद्रिका वैश्य आदि सदस्यो के द्वारा की गई व्यवस्थाओ के संबंध मे अवगत कराया गया।

वही विधायक अमर सिंह ने जिला प्रशासन द्वारा चितरंगी क्षेत्र मे कोरोना वायरस को रोकने के लिए कोविड केयर सेटर के साथ आक्सीजन एवं सीमाओ पर बनाये गये चेकपोस्ट के माध्यम से बाहरी व्यक्तियो के प्रवेश प्रतिबधित कराने आदि की व्यवस्था पर संतोष जाहिर किया गया। तथा सुझाव दिया गया कि 31 मई तक आपदा प्रबंधन समिति सहित प्रशासनिक अमला प्रत्येक ग्राम पंचायत मे अधिक संक्रिय रहे एवं 18 वर्ष के उपर आयु वाले व्यक्तियो का अधिक से अधिक टीकाकरण कराया जाये।

संभागीय कमिश्नर ने सभी समिति के सदस्यो से अपेक्षा किया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 18 वर्ष के उपर आयु के व्यक्ति टीकाकरण कराये उन्होने कहा कि संक्रमण से बचाव का सबसे बेहत तरीका टीकाकरण ही है।

उन्होने कहा कि किल कोरोना अभियान के तहत ग्राम पंचायत स्तर एवं ग्रामो मे गठित निगरानी समिति के सदस्यो द्वारा घर घर जाकर सर्दी जुखाम, बुखार खासी बाले मरीजो को मेडिसिन का किट उपलंब्ध कराये। कोई भी व्यक्ति अपनी बिमारी को ना छुपाये ताकि उसका समय पर ईलाज किया जा सके।

उन्होने उपस्थित अधिकारियो को निर्देश दिये कि क्वारेनटाईन किये गये मरीज अपने घर मे रहे घर से बाहर ना निकले रेड जोन के ग्रामो मे कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजो को उचित ढंग से देख भाल की जाये। तथा 31 मई तक कोरोना कर्फ्यू का कड़ाई से पालन कराये। सामाजिक दूरी मास्क लगाने के साथ बिना काम के कोई भी व्यक्ति अपने घर से बाहर नही निकले।तत्पश्चात उन्होने एनसीएल द्वारा गोरबी मे बनाये गये कोविड केयर सेटर का निरीक्षण किये एवं उपस्थित अधिकारियो को आवश्यक निर्देश दिये।

भ्रमण के दौरान कलेक्टर के द्वारा चितरंगी उपखण्ड क्षेत्रान्तर्गत किल कोरोना अभियान के साथ साथ कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु की गई व्यवस्थाओ के संबंध मे विस्तार से अवगत कराया गया।

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें

न्यूज़ डेस्क, उर्जांचल टाईगर

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in
Back to top button