बैढ़न

कोविड-19 महामारी के रोकथाम हेतु अस्थाई पैरामेडिकल स्टाफ को संविदा में विलय करने हेतु मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन

धर्मेंद्र शाह//सिंगरौली कोविड-19 स्वास्थ्य सेवा संगठन मध्य प्रदेश के सदस्यों द्वारा मुख्यमंत्री के नाम सिंगरौली कलेक्टर को सौंपा गया ज्ञापन। ज्ञापन में उल्लेखित है कि संपूर्ण मध्यप्रदेश में शासन द्वारा लगभग 6000 से अधिक स्वास्थ्य कर्मियों की कोविड-19 वैश्विक महामारी के रोकथाम के लिए मार्च 2020 में शासन द्वारा भर्ती की गई थी। जिसे शासन द्वारा समय- समय सरकार द्वारा अवधि भी बढ़ाई गई स्वास्थ्य कर्मियों ने स्वयं के स्वरोजगार छोड़कर व अपना जान जोखिम में डालकर देश हित में मानव सेवा करने के लिए शासन के आह्वान पर आवश्यकतानुसार तन मन लगाकर अपनी सेवाएं दी और धीरे-धीरे अस्थाई स्वास्थ्य कर्मियों ने कोविड-19 जैसे वैश्विक महामारी से विजय की ओर अग्रसर होते हुए दिखाई दे रहे हैं। 

sgrl 09

संगठन के सदस्यों का कहना है

  • जो नई भर्ती स्वास्थ्य विभाग में की जा रही है उसे रोककर कोविड-19 में काम कर रहे अस्थाई रूप से स्वास्थ्य कर्मियों को संविदा में विलय किया जाए उसके बाद जो अतिरिक्त स्थान बचते हैं उसमें नई भर्ती कराए।
  • मांगों पर शीघ्र ही विचार विमर्श कर जल्द से जल्द उचित निर्णय लिया जाए ।  
  • मांग को जल्द से जल्द 28 मई 2021 तक नहीं माना गया तो संगठन कुछ कड़े निर्णय लेने में बाध्य हो सकता है।
  • जिससे पूरे प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था पर खराब प्रभाव पड़ सकता है देश का स्वास्थ्य व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित रखने के लिए हमारी मांगे जल्द से जल्द पूरी की जाए।

संगठन के पदाधिकारी रहे उपस्थित

डॉक्टर प्रदीप पटेल डॉक्टर अमिताप, प्रफुल्ल दुबे संजय सेन संतोष साहू राजकमल रजक आरती दुबे सरोज रजक अखिलेश गुप्ता डॉक्टर राहुल जयसवाल डॉक्टर सुशील जायसवाल। 

पूरा ख़बर पढने के लिए क्लिक करें
Back to top button