उत्तर प्रदेश

न्यायाधीश राजीव कमल न्यायिक प्रकिया को ध्यान में रखते हुए आदेश पारित करते थे। -वरिष्ठ अधिवक्ता हरिशंकर सिंह

By-अंकुर पटेल

विज्ञापन

वाराणसी।। न्यायाधीश राजीव कमल पांडेय का चंदौली स्थान्तरित होने पर वरिष्ठ अधिवक्ता हरिशंकर सिंह ने कहा न्यायिक प्रकिया को ध्यान में रखते हुए न्याय कर आदेश पारित करते थे।

अपर सत्र न्यायाधीश (प्रथम) राजीव कमल पांडेय का चंदौली में परिवार न्यायाधीश पद पर स्थान्तरित होने के बाद उनके बारे में बतातें हुए यूपी बार काउंसिल के पूर्व चेयरमैन व सदस्य एवं वरिष्ठ अधिवक्ता सदस्य हरिशंकर सिंह ने कहा कि राजीव कमल पांडेय बनारस में प्रथम अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद पर थें अब वर्तमान में पांडेय जी हस्तांतरित प्रधान न्यायाधीश के पद पर जनपद चंदौली में हो गया है।

हरिशंकर सिंह ने कहा कि इनके पिता शिव कैलाश पांडेय वाराणसी जनपद कचहरी में सिविल जज के पद को सुशोभित कर चुके हैं। श्री राजीव कमल पांडेय एक लोकप्रिय व न्यायप्रिय न्यायिक अधिकारी रहें हैं, इनका बार एसोसिएशन के वकीलों ने सम्मान भी किया है। ये कवि ह्रदय व न्यायिक अधिकारी रहे हैं। माननीय पांडेय जी संभाव से निर्णय करतें रहें हैं। इनके नजर में चाहे सिनियर अधिवक्ता हो या जुनियर अधिवक्ता हो न्यायिक प्रकिया को ध्यान में रखते हुए न्याय कर आदेश पारित करते थे।

माननीय पांडेय जी जनपद वाराणसी में कई ऐतिहासिक फैसले भी किये हैं। मैं माननिय राजीव कमल पांडेय के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ। बता दे कि न्यायाधीश राजीव कमल पाण्डेय बहुचर्चित सिकरौरा नरसंहार काण्ड का निर्णय कर चर्चा में आ गए थे।

Adv.

न्यूज़ डेस्क, उर्जांचल टाईगर

उर्जांचल टाईगर (राष्ट्रीय हिन्दी मासिक पत्रिका) के दैनिक न्यूज़ पोर्टल पर समाचार और विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें। व्हाट्स ऐप नंबर -7805875468 मेल आईडी - editor@urjanchaltiger.in

Leave a Reply

Back to top button
Close
Close