Credit Card से भी होगा UPI पेमेंट, RBI ने यूजर्स को दी बड़ी राहत !

  • RBI का अहम फैसला

  • अभी क्या लाभ हैं?

  • RBI ने क्या कहा?

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने आम आदमी पर कर्ज का बोझ बढ़ा दिया है। वहीं दूसरी तरफ बड़ी राहत भी दी गई है। RBI ने क्रेडिट कार्ड को UPI (Unified Payments Interface) से जोड़ने की घोषणा की है। इसकी शुरुआत Rupay Credit Card से होगी। RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज UPI के जरिए Rupay Credit Card से भुगतान को मंजूरी दे दी। शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति  (Monetary policy) रिव्यू प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की।

अभी क्या लाभ हैं?

बता दें कि फिलहाल UPI यूजर्स Saving या Current Account को डेबिट कार्ड (Debit Card) के जरिए लिंक कर ट्रांजैक्शन की सुविधा देते हैं। दास ने कहा कि नई प्रणाली से ग्राहकों को यूपीआई प्लेटफॉर्म (UPI Platform) के माध्यम से भुगतान करने के अधिक अवसर और लाभ मिलने की उम्मीद है। RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि यूपीआई प्लेटफॉर्म के वर्तमान में 26 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता और 50 मिलियन व्यापारी हैं। अकेले मई 2022 में UPI के जरिए 10.40 लाख करोड़ रुपये के 594.63 करोड़ लेनदेन किए गए।

RBI ने क्या कहा?

दास ने कहा कि केंद्रीय बैंक (Central bank) अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए पर्याप्त liquidity or cash की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा। उन्होंने कहा, ‘आने वाले समय में महामारी की वजह से उपलब्ध कराई गई अत्यधिक नकदी को कई साल के समय में सामान्य स्तर पर लाया जाएगा। हालांकि, इसके साथ ही केंद्रीय बैंक यह सुनिश्चित करेगा कि अर्थव्यवस्था की उत्पादक जरूरतों के लिए पर्याप्त नकदी उपलब्ध रहे। उन्होंने कहा कि इसके अलावा शहरी सहकारी बैंकों को अनुसूचित बैंकों की तरह घरों तक अपने ग्राहकों को बैंक से जुड़ी सुविधाएं देने की अनुमति देने का प्रस्ताव किया गया है। 

RBI का अहम फैसला

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास द्वारा बुधवार को प्रस्तुत चालू वित्त वर्ष की तीसरी द्विमासिक वित्तीय समीक्षा की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

  • रेपो रेट 0.50 प्रतिशत बढ़ाकर 4.9 प्रतिशत कर दिया गया है। यह पांच हफ्तों में रेपो रेट में दूसरी बढ़ोतरी है।
  • चालू वित्त वर्ष के लिए मुद्रास्फीति का अनुमान 5.7 प्रतिशत से बढ़ाकर 6.7 प्रतिशत कर दिया गया है।
  • 2022-23 के लिए आर्थिक विकास का अनुमान 7.2 प्रतिशत पर बरकरार रहेगा।
  • Credit Card को UPI से लिंक किया जाएगा। सबसे पहले rupay credit card जोड़े जाएंगे।
  • ग्रामीण सहकारी बैंकों (rural co-operative banks) को वाणिज्यिक अचल संपत्ति क्षेत्र में उधार देने की अनुमति दें।
  • शहरी सहकारी बैंक (urban co-operative bank) डोर-टू-डोर बैंकिंग सेवाएं दे सकेंगे।
  • इलेक्ट्रॉनिक रूप से नियमित ब्रेक पर आवश्यक सेवाओं के लिए स्वचालित भुगतान 5,000 रुपये से बढ़ाकर 15,000 रुपये कर दिया गया है।