World No Tobacco Day : क्यों मनाया जाता है World No Tobacco Day, जानिए इसकी शुरुआत कब हुई ?

World No Tobacco Day 2022: 31 मई विश्व तंबाकू निषेध दिवस है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य तंबाकू के स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में जागरूकता फैलाना है।

World No Tobacco Day हर साल 31 मई को दुनिया भर में मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य तंबाकू के खतरों के बारे में जागरूकता फैलाना है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2022 का विषय “तंबाकू पर्यावरण के लिए खतरनाक है” है। तंबाकू का सेवन सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है।

इस खास दिन पर इससे जुड़ी हर तरह की जानकारी दी जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियों से हर साल करीब 80 लाख लोगों की मौत होती है। तंबाकू के सेवन से हृदय रोग, स्ट्रोक, कैंसर और मधुमेह होता है। यह टाइप 2 मधुमेह के खतरे को भी बढ़ाता है। आइए जानते हैं इस दिन का इतिहास और महत्व।

World No Tobacco Day का इतिहास (History of World No Tobacco Day)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 1987 में तंबाकू के सेवन से होने वाली बीमारियों और मौतों के बढ़ते आंकड़ों के कारण World No Tobacco Day की शुरुआत की थी। यह दिन पहली बार 7 अप्रैल 1988 को मनाया गया था। इसके बाद 31 मई 1988 को WHO के संकल्प 42.19 के पारित होने के बाद, यह दिन हर साल 31 मई को मनाया जाता है।

क्यो मनाया जाता है World No Tobacco Day (Why is World No Tobacco Day celebrated?)

इस दिन का उद्देश्य लोगों को धूम्रपान से होने वाले नुकसान के प्रति जागरूक करना है। तंबाकू सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है। इसके सेवन से कैंसर जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। तंबाकू के सेवन से हर साल लाखों लोगों की मौत होती है। तंबाकू के नुकसान के बारे में बात करके लोगों को धूम्रपान छोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इसके बारे में युवाओं को भी सिखाया जाता है ताकि वे इसे शुरू कर सकें।

इस साल क्या है थीम (what is the theme this year)

World No Tobacco Day हर साल किसी न किसी थीम के साथ मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम पर्यावरण संरक्षण है। पिछले साल World No Tobacco Day की थीम कमिट टू क्विट थी। इस खास दिन को मनाने के लिए हर साल अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। यह कार्यक्रम इसी विशिष्ट विषय पर आधारित है।

इस दौरान धूम्रपान से होने वाले नुकसान और आदत छोड़ने के बारे में हर तरह की जानकारी दी जाती है। इन कार्यक्रमों में युवा भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। इस संबंध में उन्हें समझाया भी गया है।