उत्तर प्रदेश

प्रदेश में लागू हो पत्रकार सुरक्षा कानून, मिले गुजारा भत्ता व कैशलेस ईलाज़ का लाभ – आशुतोष सिन्हा

सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा ने सदन में उठाया पत्रकारोंका ज्वलंत मुद्दा

वाराणसी ।। प्रदेश में विधानसभा के चल रहे बजट सत्र में सपा एमएलसी आशुतोष सिन्हा ने विधान परिषद की कार्यवाही के दौरान पत्रकारों की सुरक्षा के लिए उ.प्र. में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने, उन्हें गुजारा भत्ता, कैशलेस ईलाज़ और अन्य बुनियादी सुविधाओं से लाभान्वित किए जाने की मांग उठाई। उन्होंने सदन से मांग किया कि पत्रकारों द्वारा सरकारी तंत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार एवं अराजक तत्वों के विरुद्ध खबरों को उजागर करने पर उन्हें निरंतर धमकियां मिलती हैं, इन लोगों के साथ मारपीट एवं अन्य कई प्रकार की घटनाएं भी होती रहती हैं, जिसकी वजह से आज असमय ही कितने कलमकार अपनी जान गवां चुके हैं। इसके साथ ही ज्यादातर पत्रकारों की आर्थिक स्थिति अत्यंत दयनीय हो गई है, जिसके कारण उन्हें अपना व परिजनों का गुजारा करने में भी काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है।

उन्होंने बताया कि पत्रकारों की सुरक्षा हेतु पत्रकार सुरक्षा कानून को लागू करना अति आवश्यक है, इसके साथ ही उनका 20लाख तक का कैशलेस ईलाज़, एक करोड़ का बीमा, नए पत्रकारों को ₹10,000 एवं 20 वर्ष तक कार्य कर चुके वरिष्ठ पत्रकारों को ₹25,000 प्रति माह गुजारा भत्ता, उन्हें अन्न योजना से लाभान्वित करना एवं आवास विकास व विकास प्राधिकरण के माध्यम से नो प्रॉफिट-नो लॉस के आधार पर भवन/प्लॉट उपलब्ध कराया जाना जनहित में अतिआवश्यक है। बतादें कि इस समय उ.प्र. विधानसभा का बजट सत्र -2024 चल रहा है, जिसमें विपक्ष द्वारा जनहित के विभिन्न मुद्दों पर सरकार को लगातार घेरा जा रहा है। पत्रकारों के इन मांगों के लिये पूर्व में पत्रकार संगठन उत्तर प्रदेश एसोसिएशन ऑफ जर्नलिस्ट्स (उपज) के पदाधिकारियों द्वारा उन्हे लिखित रूप में अवगत कराया गया था।

जरूर पढिए

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker!