भारत

New Design of Admirals’ Epaulettes : भारतीय नौसेना के एडमिरलों द्वारा पहने जाने वाले एपॉलेट्स का बदला डिजाईन

New Design of Admirals’ Epaulettes : भारतीय नौसेना के एडमिरलों द्वारा पहने जाने वाले एपॉलेट्स का डिज़ाइन बदल दिया गया है। नया डिज़ाइन छत्रपति शिवाजी महाराज की शाही मुहर से प्रेरित है। मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह घोषणा नौसेना दिवस 2023 के दौरान की थी। नौसेना ने कहा कि नया एपॉलेट डिज़ाइन नौसेना ध्वज से लिया गया है और छत्रपति शिवाजी महाराज के हथियारों के कोट से प्रेरित है। यह हमारी समृद्ध समुद्री विरासत का सच्चा प्रतिबिंब है और नए डिजाइन को अपनाना हमारे पंचप्राण के दो स्तंभों – विरासत पर गर्व और दासता की मानसिकता से मुक्ति – के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

E-Shram Card : ई-श्रम कार्ड बनाने के लिए नया पोर्टल लॉन्च, लाभ पाने के लिए ऐसे करें आवेदन

  • गोल्डन नेवी बटन – गोल्डन नेवी बटन गुलामी की मानसिकता को खत्म करने के लिए भारतीय नौसेना के समर्पण को दर्शाता है।
  • अष्टकोण – यह आठ प्रमुख दिशाओं का प्रतिनिधित्व करता है, जो एक सर्वव्यापी दीर्घकालिक दृष्टिकोण का संकेत देता है।
  • टेलीस्कोप – यह बदलती दुनिया के बारे में नौसेना की दीर्घकालिक दृष्टि, दूरदर्शिता और दृढ़ दृष्टिकोण को दर्शाता है।
  • तलवार – यह नौसेना की राष्ट्रीय शक्ति का नेतृत्व करने और प्रभुत्व के साथ लड़ाई जीतने, प्रतिद्वंद्वी को हराने और हर चुनौती पर काबू पाने की क्षमता को दर्शाती है।

4 दिसंबर को नौसेना दिवस के मौके पर महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग में आयोजित एक समारोह में प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय नौसेना के रैंकों में बड़े बदलावों की घोषणा की थी ताकि नौसेना भारतीय संस्कृति से मेल खाए। जहां उन्होंने कहा कि भारत गुलामी की मानसिकता को पीछे छोड़कर आगे बढ़ रहा है। नौसेना अधिकारियों द्वारा पहने जाने वाले एपॉलेट अब से भारतीय संस्कृति और छत्रपति शिवाजी महाराज की विरासत को प्रतिबिंबित करेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक नौसेना रैंक में बदलाव का असर अधिकारी रैंक से नीचे के नौसैनिकों पर पड़ेगा। एपॉलेट्स में बदलाव का असर एडमिरल स्तर के अधिकारियों पर पड़ेगा। इनमें रियर एडमिरल, वाइस एडमिरल और एडमिरल शामिल हैं। नाविकों के एपॉलेट्स में अभी तक कोई बदलाव नहीं किया गया है।

जरूर पढिए

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker!