सिंगरौली

2 लाख रु मिलेगा सिंगरौली के कारीगरों और शिल्पकारों को, जानिए कैसे

सिंगरौली जिले के पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को सहायता देने के लिये (P.M. Vishwakarma Scheme) शुरू की गई है। इस योजना के तहत 2 लाख तक सस्ता ऋण और टूल किट खरीदने के लिये 15 हजार रूपये का अनुदान मिलेगा।

सिंगरौली कलेक्टर अरूण परमार से मिली जानकारी मुताबिक पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को सहायता देने के लिये पी.एम. विश्वकर्मा योजना (P.M. Vishwakarma Scheme) शुरू की गई है। इस योजना में टूल किट खरीदने के लिये 15 हजार रूपये का अनुदान मिलेगा। पहली बार में एक लाख और दूसरी बार में 2 लाख रूपये का सस्ता ऋण मिलेगा।

P.M. Vishwakarma Yojana प्रशिक्षण

  • प्रारंभिक प्रशिक्षण 5 से 7 दिन का और 15 दिन का एडवांस प्रशिक्षण दिया जायेगा।
  • प्रशिक्षण के दौरान 500 रूपये प्रतिदिन भत्ता भी मिलेगा।
  • प्रशिक्षण के बाद सर्टिफिकेट भी मिलेगा।

प्रशिक्षण के लिये हितग्राहियों के चयन की प्रक्रिया जारी है।

P.M. Vishwakarma Yojana के लिए कौन होगा पात्र ?

उन्होंने बताया कि योजना के लिये उम्र न्यूनतम 18 वर्ष होना चाहिए। पिछले 5 वर्षों में पीएमईजीपी स्वनिधि एवं मुद्रा योजना के तहत ऋण नहीं लिया हो। सहकारी सेवा में कार्यरत व्यक्ति और उनके परिवार के सदस्य इस योजना के तहत पात्र नहीं होंगे।एक परिवार से एक ही को लाभ मिलेगा।

P.M. Vishwakarma Yojana इन लोगों को मिलेगा लाभ !

कारीगर बढ़ई, सुनार, गुड़िया और खिलौना निर्माता, नाव निर्माता, कुम्हार, नाई, अस्त्रकार, मूर्तिकार (पत्थर तराशने वाला), माला निर्माता (मालाकार), लोहार, मोची (चर्मकार)/जूता कारीगर, धोबी, हथौड़ा, टूल किट निर्माता, राजमिस्त्री, दजी, ताला बनाने वाला, टोकरी, चटाई, झाडू निर्माता कॉयर बुनकर और मछली पकड़ने का जाल निर्माता शामिल है।

P.M. Vishwakarma Yojana के लिए जरूरी दस्तावेज

योजना के लिये आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक खाता और आधार कार्ड में मोबाईल नम्बर लिंक होना अनिवार्य है।

जरूर पढिए

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker!