मध्यप्रदेशसिंगरौली

सीधी-सिंगरौली-सिहावल के साथ धौहनी में खिला कमल, जानिए जीत का अंतर

MP Election 2023 : सीधी जिले की चार विधानसभा सीटों में से तीन पर भाजपा ने जीत हासिल की और सिंगरौली में एक पर कांग्रेस और तीन पर भाजपा की जीत हुई। अंतर यह है कि 2018 के चुनाव में सिहावल विधानसभा से कांग्रेस जीती थी, यह सीट उनके हाथ से निकल गई। ऐसे में कांग्रेस के हाथ से गई चुरहट सीट और मजबूत हो गई है। सीधी जिले की सीधी विधानसभा सीट से बीजेपी सांसद रीति पाठक, धौहनी से बीजेपी के कुंवर सिंह टेकाम, सिहावल से विश्वामित्र पाठक जीते हैं। तो वहीं कांग्रेस के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने चुरहट विधानसभा सीट से बीजेपी के शरदेंदु तिवारी को हरा दिया।

चितरंगी, सिंगरौली, देवसर विधानसभा

सिंगरौली जिले की भाजपा की पारंपरिक सीट चितरंगी विधानसभा से राधा सिंह (भाजपा), सिंगरौली से रामनिवास शाह और देवसर से राजेंद्र मेश्राम ने इतिहास दोहराया।

चितरंगी, सिंगरौली, देवसर विधानसभा

राधा रविन्द्र सिंह भाजपा (105410)माणिक सिंह कांग्रेस (45531)जीत का अंतर – 59879
राजेंद्र मेश्राम भाजपा (88660)बंसमणि वर्मा कांग्रेस (66,206)जीत का अंतर – 22454
रामनिवास शाह भाजपा (74669)रेनू शाह कांग्रेस (36,692)जीत का अंतर – 37977

रीति पाठक सांसद भाजपा सीधी विधानसभा

सीधी विधानसभा सीट पेशाब कांडके बाद चर्चा में आईं सांसद रीति पाठक मैदान में थीं। उनके भविष्य को लेकर चिंतित कुछ भाजपा नेताओं ने उन्हें अंदर ही अंदर घात लगाकर घेरने की कोशिश की। लेकिन उन्होंने चुनौती दी और मैदान में डटी रही। भाजपा ने सीधी की परंपरागत सीटें जीतीं। रीति पाठक 2014 से लगातार दो बार सीधी लोकसभा सीट से सांसद हैं। इससे पहले वह जिला पंचायत अध्यक्ष थे।

सीधी विधानसभा

रीति पाठक भाजपा (88664)ज्ञान सिंह कांग्रेस  (53246)जीत का अंतर – 35,418

विश्वामित्र पाठक भाजपा सिहावल विधानसभा

विश्वामित्र पाठक ने 2008 में सिहावल विधानसभा सीट से टिकट कटने के बाद पहला चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। फिर 2013 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 2018 में बीजेपी ने उनकी जगह शिव बहादुर सिंह को टिकट दिया और बीजेपी हार गई। टिकट नहीं मिलने से नाराज विश्वामित्र ने बगावत कर दी और उन्हें करीब 27121 वोट मिले। इस बार बीजेपी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया और उन्होंने 16478 वोटों से जीत हासिल की। विश्वामित्र पाठक दूसरी बार विधायक हैं।

सिहावल विधानसभा

विश्वामित्र पाठक भाजपा (87085)माणिक सिंह कांग्रेस (70607)जीत का अंतर – 16478

कुंवर सिंह टेकाम भाजपा धौहनी विधानसभा

कुंवर सिंह टेकाम चौथी बार विधायक बने हैं। कुँवर सिंह टेकाम अपनी विनम्रता और राज्य सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन के कारण आगे हैं। परिणामस्वरूप वे जीत गये। 2018 में कुंवर सिंह 3793 वोटों से जीते थे।

धौहनी विधानसभा

कुंवर सिंह टेकाम भाजपा (82063)कमलेश सिंह कांग्रेस (78742)जीत का अंतर – 3321

अजय सिंह राहुल चुरहट विधानसभा

चुरहट विधानसभा सीट कांग्रेस की परंपरागत सीट है। 2018 में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल को बीजेपी के शरदेंदु तिवारी ने 6402 वोटों से हराया था। हार के बाद अजय सिंह राहुल ने कुछ दिनों के लिए मैदान से दूरी बना ली लेकिन एक टीम बनाई और लगातार मैदान पर डटे रहे। भाजपा कार्यकर्ताओं में आपसी सहमति न होने के कारण संगठन धीरे-धीरे कमजोर होता गया। इससे कांग्रेस को फायदा हुआ। अजय सिंह ने राहुल शरदेंदु तिवारी को 27,777 वोटों से हराया।

चुरहट विधानसभा

अजय सिंह राहुल कांग्रेस (97517)शरदेंदु तिवारी भाजपा (69740)जीत का अंतर – 27,777

जरूर पढिए

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker!