उत्तर प्रदेश

पूर्व विधायक स्व.विक्रमा राय की सातवीं पुण्यतिथि मनाई गई

उनके विचारों को आत्मसात करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। -प्रमुख प्रदीप कुमार राय

मऊ। पनइल गांव में पूर्व विधायक स्व. विक्रमा राय की 7वीं पुण्यतिथि मनाई गई, इस मौके पर गाँव के कमजोर वर्ग के लोगों को उनके पुत्र वीरेंद्र कुमार राय, धीरेंद्र कुमार राय, सत्येन्द्र कुमार राय एवं संजीव कुमार राय “कक्कू राय” ने साड़ी कपड़ा आदि सामान देकर उन्हें नमन करते हुए उनको श्रद्धासुमन अर्पित किया। ब्लाक प्रमुख प्रदीप कुमार राय ने कहा कि स्व. विधायक जी से मेरा बहुत गहरा रिश्ता रहा, वे एक अभिभावक की तरह मेरे लिए थे, वे हमेशा हमें डांटते व समझाते रहते थे।

उन्होंने कहा कि वे बेबाक टिप्पणी के लिए विख्यात थे, स्व. विक्रमा राय राजनीति के पुरोधा थे। उन्होंने कहा कि स्व. विक्रमा राय इस धरा के जगमगाते रत्न थे, उन्होंने कभी सिद्धांतों से समझौता नहीं किया, वे छल कपट से कोसों दूर थे, उनका जीवन सादगीपूर्ण रहा वे लोहिया के विचारों से ओतप्रोत थे, उनके विचारों को आत्मसात करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

पूर्व विधायक स्व.विक्रमा राय की सातवीं पुण्यतिथि मनाई गई

बतादें कि समाजवादी नेता स्व. विक्रमा राय का जन्म वर्ष 1931 में दोहरीघाट के निकट पनइल गांव में हुआ था, वे 5 भाइयों और 2 बहनों के साथ एक संयुक्त परिवार में रहते थे, उन्होंने अपनी राजनीतिक जीवन की शुरुआत बीएचयू में छात्र राजनीति के साथ सुरुआत किया, वे पेशे से वकील थे। उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा दोहरीघाट से किया और बाद में वाराणसी चले गए स्नातक स्तर की पढ़ाई के लिए, उन्होंने बीएचयू (बनारस हिंदू विश्विद्यालय) से स्नातक मे दाखिला लिया, किन्तु वर्ष 1958 में छात्र आंदोलन के कारण उन्हें निलंबन मिला तदुपरांत गोरखपुर विश्वविद्यालय में उन्होंने स्नातक और परस्नातक की डिग्री प्राप्त किया, फिर उन्होंने लखनऊ विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री प्राप्त किया।उन्होंने कानून अभ्यास के दौरान उन्होंने आर्थिक रूप से कमजोर लोगों से कभी कोई शुल्क नहीं लिया। वह भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य थे।

वह हमेशा समाज के कमजोर वर्ग के उत्थान हेतु हमेसा ईमानदारी से लड़ते रहे वह डॉ. राम मनोहर लोहिया के विचारधारा वाले राजनेता थे। वह 1960 में उत्तर प्रदेश से सामुदायिक पार्टी संगोष्ठी का प्रतिनिधित्व किया, 1974 में भारतीय क्रांति दल से निर्वाचन क्षेत्र घोसी विधानसभा के चुनाव में दूसरा स्थान हासिल हुआ, आपातकाल में वर्ष 1975, में उन्हें गिरफ्तार किया गया, फिर वर्ष में 1977 उन्होंने आपातकाल के बाद अपना दूसरा चुनाव जनता पार्टी के टिकट पर घोसी से लड़ा और जीत हासिल की।

इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि गोपाल राय, पूर्व प्रधानाचार्य झारखंडेय राय, पूर्व प्रधान विजेंद्र राय, विपिन राय, अजीत राय, राजेश राय, श्यामसुंदर मौर्य, तेज बहादुर राय, कक्कू राय, कल्पनाथ राय, छांगुर राय, शंभू यादव, उमेश राय, मनोज राय, मंडल अध्यक्ष आदर्श राय, अध्यक्ष हेमंत राय, नगर अध्यक्ष सतीश यादव, युवा नेता विशाल यादव, उपेंद्र राय क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रधान राम बच्चन यादव, डॉ. गोरख राय आदि शामिल रहे।

जरूर पढिए

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker!