होम हेड लाइन मध्य प्रदेश मनोरंजन बिजनेस पर्सनल फाइनेंस ब्यूटी फैशन
---Advertisement---

Ashutosh Sharma क्यों गए डिप्रेशन में, क्या है वजह?

Ashutosh Sharma क्यों गए डिप्रेशन में, क्या है वजह?
---Advertisement---

IPL2024 : पंजाब के क्रिकेटर आशुतोष शर्मा (25) बदलाव के इस दौर में डिप्रेशन में चले गये। जो गुजरात टाइटंस के खिलाफ पंजाब के लिए मैच में 17 गेंदों में 31 रन बनाए, जिससे नरेंद्र मोदी स्टेडियम में गुजरात टाइटंस के खिलाफ 200 रन के लक्ष्य को पूरा कर लिया। शर्मा ने खुलासा किया कि अच्छे प्रदर्शन के बावजूद भी वह मध्य प्रदेश के नए कोच के व्यवहार से हैरान होकर डिप्रेशन में चले गए।

क्वालीफाइंग ट्रायल में 40-45 गेंदों पर बनाए 90 रन

उन्होंने ने खुलासा किया कि पिछले सीज़न और चयन ट्रायल में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के बावजूद भी उन्हें मध्य प्रदेश टीम से बाहर कर दिया गया। यह भी बताया कि नए कोच उन्हें पसंद नहीं करते थे। 2019 में मैंने मध्य प्रदेश के लिए आखिरी टी20 मैच में 84 रन बनाए थे। फिर नया कोच आया और उसे मैं पसंद नहीं आया। मैंने क्वालीफाइंग ट्रायल में 40-45 गेंदों पर 90 रन बनाए, लेकिन जब सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए टीम की घोषणा की गई, तो मेरा नाम नहीं था। उस समय मैं डिप्रेशन में चला गया था क्योंकि उस साल मैंने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था।’ हमने अंडर-23 स्तर पर खेला, जहां मैंने चार मैचों में 200 रन बनाए।

शर्मा ने 11 गेंद में अर्धशतक जड़कर युवराज सिंह का तोड़ा रिकॉर्ड

आशुतोष शर्मा ने कहा कि उन्हें यह भी नहीं बताया गया कि उनकी गलती क्या थी। और वह नए कोच के तहत टीम के सेट-अप से काफी परेशान थे। उसके बाद वो रेलवे में चले गए और रेलवे को धन्यवाद दिया, जिन्होंने उनका भरपूर सहयोग किया। उन्होंने पिछले साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में 11 गेंद में अर्धशतक बनाकर युवराज सिंह का रिकॉर्ड तोड़ा था। पंजाब किंग्स ने आशुतोष को उनके बेस प्राइस 20 लाख रुपये में खरीदा। उसके बाद अगले साल पेशेवर कोच आये और मुझे बेंच पर बिठा दिया। वह कोविड का समय था। जिसमें सिर्फ 20 लोगों को यात्रा की इजाजत थी। मैं एक होटल में एक या दो महीने के लिए रुका था। बिना मैदान देखे ही मैं डिप्रेशन में चला गया। मैं बस जिम जाता और अपने कमरे में वापस आता था।

आशुतोष के लिए दो या तीन साल थे बुरे

जिससे काफी परेशान रहता था और मैं बस यही सोच रहा था कि अचानक क्या हो गया। मैं क्या गलत कर दिया। किसी ने मुझे नहीं बताया कि मैंने क्या गलत किया। मैं नये सेटअप से आश्चर्यचकित था। लेकिन मैंने अभ्यास करना नहीं छोड़ा और मुझे फिर से रेलवे में नौकरी मिल गयी। उन्होंने मुझे बहुत सपोर्ट किया। उन्होंने मुझे U-25 और T20 फॉर्मेट में मौके दिए। मैंने अच्छा प्रदर्शन किया। तो हाँ, दो या तीन साल मेरे लिए बुरे थे। मैं उदास था। मुझे रात को नींद नहीं आ रही थी। इससे उबरना मुश्किल था।’ लेकिन मुझे खुद पर भरोसा था और मैं बेहतर प्रदर्शन करने में सफल रहा।

Follow On WhatsApp
Follow On Telegram
---Advertisement---
Live TV