अंधविश्वास : मामा का कटा सर व कुल्हारी लेकर 2 किमी पैदल चलता रहा आरोपी भांजा

सीधी।। दुनिया चाहे भले चाँद पर ही क्यों न पहुंच गई हो लेकिन अंधविश्वास आज भी कायम है। मध्य प्रदेश के सीधी जिले में दिल दहलाने वाला एक घटना सामने आया है। जानकारी के अनुसार भांजे ने अपने मामा को जादूटोना के शक में बेरहमी से कुल्हारी से काटकर सर धर से अलग कर दिया। यही नहीं कटा हुआ सर और कुलहरी लेकर खुद थाने भी पहुच गया था।

मामा का कटा सर व कुल्हारी लेकर 2 किमी पैदल चलता रहा आरोपी भांजा

घटना के विषय में मिली जानकारी के अनुसार घटना  बीते दिन शुक्रवार को जिला मुख्यालय से लगभग 10 किलोमीटर दूरी पर ग्राम कारीमाटी का बताया जा रहा है। जहा भांजे ने अपने मामा के ऊपर सुबह करीब 8:30 बजे कुल्हाड़ी से हमला कर सिर को धड़ से पूरी तरह से अलग कर दिया। इसके बाद आरोपी युवक एक हांथ में मामा के कटे सिर को लेकर तथा दूसरे हांथ में कुल्हाड़ी लेकर खुद जमोंड़ी थाना की ओर पैदल चलने लगा। ये दिल दहला देने वाली इस नजारा को देख कर लोगों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही जमोंड़ी थाना पुलिस तत्काल हरकत में आई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के कब्जे से कटा हुआ सिर एवं कुल्हाड़ी बरामद की गई है।

आरोपी भांजे ने कबूला “हाँ मैंने मामा को मारा है”

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के उपरांत प्रारंभिक पूंछतांछ में आरोपी रावेन्द्र सिंह गोंड़ उर्फ छोटू सिंह गोंड़ पिता लालबहादुर सिंह गोंड़ उम्र 22 वर्ष निवासी कारीमाटी ने बताया कि शुक्रवार सुबह वो अपने मामा मकसूदन सिंह गोंड़ पिता हरिपाल सिंह उम्र 60 वर्ष के घर पहुंचा और घर के बाहर मिलते ही कुल्हाड़ी से हमला किया। हमला इतना तेज था कि धड़ से सिर पूरी तरह से अलग हो गया। कटे सिर एवं जिस कुल्हाड़ी से हत्या की गई थी उसे लेकर वो पैदल ही घटनास्थल से रवाना हो गया। करीब दो किलोमीटर तक वह घटनास्थल से पैदल चला। इसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। पूंछतांछ में आरोपी ने अपने मामा मकसूदन सिंह गोंड़ की दर्दनाक हत्या का कारण जादू-टोना करना बताया है।

आरोपी का कहना था कि उसके मामा द्वारा जादू टोना कर उसको काफी दिनों से परेशान किया जा रहा था। यहां तक कि उसके परिजन भी जादू-टोना के कारण तरह-तरह की परेशानी में फंसे हुए थे। कई बार मामा को समझाने का प्रयास भी किया गया कि वो जादू-टोना उसके ऊपर करना बंद कर दे लेकिन वो विवाद करनें पर हमेंशा उतारू हो जाता था। इसी वजह से उसने मामा को जान से मारने का निर्णय लिया। मामा द्वारा प्रसाद के रूप में बकरा चढ़ाने पर अनावश्यक रूप से जोर दिया जा रहा था।

आज सुबह ही वो मामा के पास पहुंचा और फिर से जादू-टोना करनें को लेकर अपना विरोध जताया। विरोध करनें पर मामा गाली-गलौज करते हुए विवाद में उतारू हो गया। मामा का ये व्यवहार देखकर वो अपने गुस्से पर नियंत्रण नहीं कर सका और कुल्हाड़ी के तेज वार से एक ही बार में उसके सिर को धड़ से पूरी तरह से अलग कर दिया। पुलिस उक्त बयान पर मर्ग विवेचना में लगी है।

कैसे हुआ आरोपी गिरफ्तार ?

जमोंड़ी थाना अंतर्गत कारीमाटी गांव में एक बुजुर्ग की कुल्हाड़ी से नृशंस हत्या करनें की सूचना मिलते ही पुलिस पूरी तरह से सक्रिय हो गई। आरोपी युवक को जहां रास्ते में कटे सिर एवं कुल्हाड़ी के साथ गिरफ्तार किया गया वहीं थाना प्रभारी शेषमणि मिश्रा अपने दल-बल के साथ घटनास्थल पर भी पहुंचे। थाना प्रभारी द्वारा घटना के संबंध में अपने बड़े अधिकारियों को भी अवगत कराया गया।

मौके पर पुलिस की एफएसएल टीम भी पहुंची तथा साक्ष्य एकत्रित किया। आरोपी के विरुद्ध धारा 302 आईपीसी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर पुलिस द्वारा इस मामले में कई एंगलों से जांच की जा रही है। जिससे आरोपी द्वारा हत्या का जो कारण बताया जा रहा है उसकी सच्चाई सामने आ सके।

पुलिस जल्द करेगी हत्या का खुलासा

हत्या करनें वाले आरोपी युवक को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाई की जा रही है। पुलिस की मर्ग विवेचना के दौरान घटना को लेकर अभी कई सारे तथ्य बाहर आएंगे। कई एंगलों से मामले की जांच हो रही है। पुलिस विवेचना के दौरान पूरी तरह से सच्चाई की तह तक पहुंचेगी। इसके बाद ही हत्या का वास्तविक कारण का खुलासा हो सकेगा।